यूरिक एसिड क्या है (uric acid)

0
68
हर इंसान अपनी जिंदगी में कभी ना कभी रोगों से पीड़ित हो जाता हैं|बहुत अधिक लोग जोड़ों के दर्द से ग्रसित हैं |घुटनों, कंधों, उंगलियां ,कहानी, कलाई यह सब जोड़ हैं| और किसी भी जोड़ में दर्द हो सकता है |जोड़ों के दर्द को अनेक नामों से जाना जाता है |बादी का दर्द, वात ,आमवात, संधिवात ,गठिया रूमेटिक अर्थराइटिस, ओस्टियोआर्थराइटिस नाम कुछ भी हो दर्द जोड़ों में ही होता है| जब प्यूरीन नामक प्रोटीन का पाचन भली-भांति हमारे शरीर में नहीं हो पाता है| तो उस स्थिति में प्रोटीन से यूरिक एसिड नाम का एक विशेष द्रव का निर्माण होता है| इसी तरह पेशियों की केंद्रको की टूट-फूट से यूरिक एसिड अधिक मात्रा में बनता है |यूरिक एसिड हमारे गुर्दों की किसी कार्य हीनता या कमजोरी से हमारे पेशाब में मिलकर शरीर के बाहर नहीं जा पाता |और रक्त में वापिस स्टोर होता रहता है| इसी के कारण रक्त में स्थित यूरिक एसिड की जो स्वाभाविक मात्रा होती है| वह बढ़ने लगती है| इसी के कारण जोड़ों के अंदर दर्द आता है |इससे घुटने सबसे अधिक प्रभावित होते हैं |यही जोड़ों के स्नायु में जमा हो जाता है| इसकी अम्लता से संधियों के श्लैष्मिक आवरण में जलन और पीड़ा होने लगती है| जब व्यक्ति अम्ल युक्त भोजन का सेवन अधिक करता है|जैसे चाय,कॉफी,मिर्च मसाले,भोजन में अधिक नशीले पदार्थ की खाने की वजह अम्लीय तत्व शरीर में हड्डियों की ओर आकर्षित होते हैं| और उन पर चिपक जाते हैं| जिसे जोड़ों का हिलना डुलना दूभर हो जाता है |रोगों के लक्षण साफ दिखाई देने लगते हैं |डॉक्टर इसे यूरिक एसिड कहते हैं |यदि पसीना नमकीन खारा होता है| तो शरीर में यूरिक एसिड अधिक होने का लक्षण है| यूरिक एसिड बढ़ जाने से गठिया जोड़ों में दर्द होने लगता है| और धीरे धीरे बढ़ता है| जोड़ों में दर्द ,सूजन होती है| तो यह बहुत सारी परेशानी है| जो हमें यूरिक एसिड की वजह से होती है| तो आप समझ गए होंगे| कि यूरिक एसिड क्या होता है|इससे हमें क्या-क्या हो सकता है| |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here