What is dietary considerations ? ( आहार विवेचन क्या है ? )

0
116

Dietary considerations

आयुर्वेद के शास्त्रों में आरंभ ही आहार चर्चा से  किया है और कहां है | यानि  आहार ठीक है | अर्थात प्राकृतिक है | तो औषधि की आवश्यकता ही क्या है | यदि आधार खराब है | खाने लाइक नहीं है | तो उसी स्थिति में कितनी भी उस रोग को दवाई खिलाएँ जायें  लाभ नहीं होगा | 

आहार गलत नहीं है | तो उसको दवा खिलाने की आवश्यकता ही क्या है | आधुनिक चिकित्सा पद्धति एलोपैथी के प्रवर्तक हीप्टोक्रिटस भी यही बात कही है | Let the food be thy medicine … Let thy medicine be thy food यानि आहार ही औषधि है |

 किसी भी पद्धति का कोई भी चिकित्सक आहार के महत्व को समझ कर अपने रोगियों पर समझकर पूर्वक वैज्ञानिक प्रयोग नहीं करेगा | तो वो कभी- भी सफल Doctor नहीं हो सकता है | अगर रोगी भी अपने Diet के तरीके को नहीं समझेगा तो वो स्वस्थ को प्राप्त नहीं कर सकता है | तो हम को चाहिए की हम अपने Diet पर जरूर ध्यान देना चाहिए | 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here