what is hoarseness ,couse,symtoms & natural treatment in hindi

0
39

Hoarseness couses & symtoms

हेलो फ्रेंड पोस्ट हमारा गले की आवाज बैठ जाती है | तो उसका कारण क्या है लक्षण क्या है| और उसका नेचुरोपैथी में ट्रीटमेंट क्या है| इसके कारण क्या होते हैं|

जोर से भाषण देने ,से अधिक गाना गाने ,से चिल्लाने से, ठंड लगने से सीलन की जगह पर रहने ,से स्वर नली के स्नायुओ पर अनावश्यक जोर पड़ने के कारण वे कमजोर हो जाते हैं | तथा शरीर पर स्थित विजातिय द्रवों के किसी तरह हलक तक पहुंचने से कभी-कभी गला बैठ जाता है| तो दोस्तों आवाज भारी आवाज बिल्कुल ही नहीं निकलती गले की खुश्की कभी-कभी सूखी खांसी तथा श्वास लेने में कष्ट आदि| ऐसे उपद्रव हमारे गले के अंदर हो जाते हैं|

Natural treatment hoarseness

1-    natural treatment रोगी को दो-तीन दिन तक अपने पेडू पर मिट्टी की पट्टी लगाने और उसके बाद एनिमा लेकर पेट को साफ कर लेना चाहिए| जिससे कि यह समस्या बहुत जल्दी ठीक हो सकती है| याद रहे कि इसमें पेट साफ करना बहुत जरूरी होता है| वैसे तो हर बीमारी में पेट साफ करना जरूरी है| लेकिन यह एकदम से पेट से जुड़ी हुई समस्या है |

2-   सुबह शाम 1:30 घंटे तक गले के चारों तरफ कपड़े की या मिट्टी की गीली पट्टी लगानी चाहिए दोपहर में गला, छाती और कंधों तक एक ठंडा  और एक गर्म पानी से बार बार सेक करने से यह बीमारी बहुत जल्दी ठीक हो जाती है |
3-  हर दूसरे तीसरे दिन ऊषणपाद स्नान भी करना चाहिए रोज नमक               मिले  पानी से गरारा करने से बहुत ही जल्दी समस्या ठीक हो जाती है |
4-  सुबह शाम एक एक गिलास गर्म पानी पीना भी इसमें बहुत लाभदायक        है
5-  सप्ताह तक केवल चौकीदार रोटी और सब्जी पर रहना चाहिए या फल        और दूध पर रहना चाहिए बहुत ही लाभदायक है
6-  इस बीमारी में रोज नींबू का रस मिला हुआ पानी कई बार पीने से यह           समस्या बहुत जल्दी ठीक हो जाती है |
7- तेरी नीली बोतल का सूर्य तप्त जल दिन में 6 बार 50 ग्राम की मात्रा में        पीने से लाभ होता है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here