Insomnia |अनिंद्रा का| कारण ,लक्षण और घरेलु उपाय

1
131
Insominia
Insominia

Insominia -अनिंद्रा

Insomnia -अनिंद्रा sleep disorder का सबसे तेज इलाज दोस्तों कुछ लोगों को बस या ट्रेन में यात्रा करते हुए या ऑफिस की कुर्सी पर बैठे-बैठे नींद आ जाती है | लेकिन कुछ लोगों को रात को सोते समय भी नींद नहीं आती है | अनिद्रा या insominia  एक ऐसी समस्या है | जिसने आज दुनियाभर में लाखों लोगों को प्रभावित कर रखा है|  इससे पीड़ित व्यक्तियों के लिए नींद आना यह सोते रहना मुश्किल होता है|  insominia की  समस्या में रात को नींद बहुत देर से लगती है | लग जाने के बाद भी बार-बार खुलती रहती है| या बीच रात में नींद पूरी तरह खुल जाती है|,और दोबारा वापस नहीं आती अनिद्रा के सामान्य से लेकर कुछ बहुत भयंकर प्रभाव भी हो सकते हैं |
Insominia
Insominia

अनिद्रा के कारण

अधिकांश मामलों में insominia  के कारण तनाव या चिंता और डिप्रेशन समय के साथ साथ होने लगता है |, और एक समय पर आकर स्वभाव में चिड़चिड़ापन और बेचैनी आ जाती है|  कारण रात को भोजन करने के बाद जल्दी सो जाना या रात में हैवी भोजन कर लेना सोने का समय फिक्स ना होना |,और दिन में सोना सोने से पहले कंप्यूटर टीवी ,वीडियो, गेम्स, स्मार्ट फोन ,या अन्य स्क्रीन का आंखों से संपर्क हो ना सोने से पहले ऑफिस स्कूल स्वास्थ्य आर्थिक या परिवार से जुड़ी हुई समस्याओं के बारे में सोचना यह कुछ आम कारण है | 
 
जिनकी वजह से हमारा दिमाग रात को सोने के लिए सही तरह से तैयार नहीं हो पाता |और नींद लगने में काफी ज्यादा समय भी लगता है | ,उपचार रात को (insominia ) नींद ना आने की समस्या चाहे कितनी भी गंभीर और पुरानी क्यों ना हो कुछ आसान घरेलू नुस्खों के जरिए आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है| जो लोग सोने के लिए नींद की गोलियों का सहारा लेते हैं| उन्हें उस समय तो नींद आ जाती है |लेकिन इन दवाइयों का दिमाग और किडनी पर बहुत बुरा असर पड़ता है|
 
 और साथ ही थोड़े समय बाद हमारा दिमाग दवाइयों के खिलाफ उल्टा रिएक्शन डेवलेप कर लेता है | ,जिससे कि आगे चलकर (insominia) नींद लाने के लिए दवाओं का असर होना भी बंद हो जाता है| ,इसलिए कभी भी ऐसी समस्या में दवाइयों पर निर्भर नहीं होना चाहिए और हमेशा नेचुरल तरीकों से उनका इलाज करना चाहिए क्योंकि इन तरीकों से ही किसी भी बीमारी की सीधा जड़ पर असर होता है |, और वह हमेशा के लिए ठीक हो जाती है |
 

अनिद्रा के लिए उपाय

1- त्रिफला तो चलिए जानते हैं| ऐसे ही कुछ आसान घरेलू नुस्खों के बारे में त्रिफला अगर आप रात को देर से भोजन करते हैं|  ऐसे में सोते समय पाचन क्रिया ज्यादा देर तक सक्रिय रहती है | जिसकी वजह से खाना भी ठीक से नहीं पचता है |और दिमाग पूरी तरह शांत नहीं हो पाता है| ऐसा होने पर रात को सोने से पहले 5 से 10 त्रिफला के चूर्ण को 1 गिलास पानी में मिलाकर पिएं इससे खाना भी जाता है|  और रात को insominia से परेशान लोगों को नीद भी अच्छी आती है |
 
2- केला–  Insominia के उपचार में केले विशेष रूप से लाभदायक है|केले नींद को बढ़ाते हैं |क्योंकि प्राकृतिक रूप से मांसपेशियों को रिलैक्स करने वाले magnesium और potassium मौजूद होते हैं |रात को सोने से 1 घंटे पहले दो से तीन केले खाने से भूख शांत होती है | अच्छी नींद भी आती है | और देर रात उठकर खाने की आदत से भी राहत मिलती है |
 
3- सौंफ -सौंफ खासकर गर्मियों में हमें गहरी नींद प्रदान करने में फायदेमंद होती है | 10 ग्राम सौंप को 50 ग्राम पानी के साथ तब तक उबालें | जब तक कि पानी आधा रह जाये आधा रह जाने के बाद इसे लगभग 200 ml हल्के गर्म दूध के साथ मिलाकर सेवन करे| पीने के बाद आप देखेंगे | आपको नींद भी आ जाएगी |और एक बार सो जाने के बाद रात में नींद खुलेगी भी नहीं भांग भांग वैसे तो शिव भगवान का प्रसाद है | 
हमारे देश में इसका सेवन त्योहारों पर आनंद उठाने के लिए भी किया जाता है| लेकिन एक ऐसी आयुर्वेदिक है | जिसकी अलग-अलग तरह के इस्तेमाल से कई बीमारियों का इलाज भी होता है| रात में ( insominia ) नींद नहीं आने की प्रॉब्लम में भी भांग से एक असरदार औषधि बनाई जा सकती है|लगभग 150 ग्राम गुलाब के फूलों की पत्तियों में 50 ग्राम भांग और 300 ग्राम मिश्री मिलाकर अच्छी तरह से पीस ले और इस तैयार चूर्ण को फ्रीज में स्टोर कर लें और रोजाना इसमें से 20 ग्राम चूर्ण को एक गिलास दूध के साथ मिलाकर इसका सेवन करें| आप देखेंगे |कि सोते समय आपका दिमाग शांत होने लगेगा और नींद भी आएगी|
 
4-गाजर-गाजर का रस गाजर के अंदर अल्फाकेरेटिन नामक तत्व होता है| इसका सेवन करने से हमारे दिमाग को रिलेक्स करता है|रोजाना शाम के समय 250 ml गाजर का जूस पीने से रात में नींद नहीं आने की समस्या में फायदा मिलता है |
 
5-शंखपुष्पी और अश्वगंधा ये दोनों ही ऐसी जड़ी बूटियां है |जो खासकर दिमागी रोगों में बहुत लाभकारी है |आयुर्वेद में इनका उपयोग मानसिक रोगों को ठीक करने के लिए पुराने से किया जाता आ रहा है| ये इतनी फायदेमंद है | इसके लगातार तीन दिन के सेवन से ही insominia की बिमारी  में 50% से भी ज्यादा  सुधार आ जाता है| अश्वगंधा और शंखपुष्पी चूर्ण को बराबर मात्रा में मिला लें| उसके बाद लगभग 5 ग्राम घी और मिश्री के साथ मिलाकर इसका सेवन करें| और ऊपर से दूध या पानी पीलें इससे रात को गहरी नींद आती है| और insominia की समस्या ठीक हो जाती है |
 
दोस्तों  आर्टिकल पसंद आया हो  तो लाइक और शेयर अवश्य करें|

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here