यूरिक एसिड का घरेलु उपचार कैसे करें

1
293

यूरिक एसिड के लिए कुछ घरेलू चीजें हैं फ्रूट सब्जियां और कुछ नट्स हैं जिनका उपयोग करके हम यूरिक एसिड की समस्या को ठीक कर सकते हैं |यूरिक एसिड के बारे में ज्यादा जाने

लहसुन

लहसुन – लहसुन का रस आधा चम्मच दो चम्मच पानी में मिलाकर पीने से यूरिक एसिड पेशाब के साथ निकल जाती है यह दर्द नाशक गुणों से भरपूर है लहसुन सेवन के कुछ समय बाद आधा चम्मच घी का सेवन करने से अधिक लाभ होता है |

अजमोद

यह पंसारी ,आयुर्वेदिक दवा बेचने वालों के मिलता है | अजमोद शरीर से यूरिक एसिड बाहर निकालता है यह गठिया रोग में बहुत लाभदायक है अजमोद में कैल्शियम की तुलना में कार्बनिक सोडियम 4 गुना होता है यह उच्च कार्बनिक सोडियम चूना और मैग्नीशियम की घोल की अवस्था में रहता है |

सेवन विधि -सब्जियों में अजमोद की छौंक लगा सकते हैं| सब्जी में डाल कर खा सकते हैं अजमोद की चाय पी सकते हैं पानी में चाय की जगह चाय की मात्रा के रूप में अजमोद डालकर उबालकर छानकर थी का पानी पीना चाहिए नमक चीनी कुछ भी नहीं डालना चाहिए इस प्रकार से अजमोद का सेवन कर सकते हैं |

छाछ

नित्य छाछ का सेवन करके भी आप यूरिक एसिड को शरीर से बाहर कर सकतें हैं |इससे भी जोड़ों के दर्द में लाभ होता है | लेकिन छाछ खट्टी नहीं होनी चाहिए |

आलू

आलू का रस यूरिक एसिड और चूने क गला देता है | कच्चे आलू का छिलका सहित रस निकालकर , छानकर समान मात्रा में पानी मिला कर सुबह भूखे पेट पीना चाहिए | एक बार में आधा कप रस और आधा पानी मिलाकर नित्य पियें |

यदि यह संभव न होतो दूसरा उपाय करें | कच्चे आलू के छिलके सहित पतली पतली भागों में काटकर एक गिलास ठंडे पानी में रात को डाल दें फिर आते भूखे पेट इस पानी को छानकर पीएं यह यूरिक एसिड और चूना जो जोड़ों में दर्द बढ़ाता है ठीक कर देता है दर्द जगह पर कच्चे आलू को चटनी की तरह पीसकर लेप करें थोड़ी देर में लैप सुखकर चिपका रहेगा कपड़े खराब नहीं करेगा भोजन में भुना हुआ आलू भी खाएं|

शहद

शहद यूरिक एसिड कम कर देता है जोड़ों के दर्द वाले शहद का सेवन करें यदि रोगी को मधुमेह नहीं हो तो 3 चम्मच शहद नित्य तीन बार देने से दर्द में कमी आती है तथा कमजोरी रक्त की कमी दूर होती है शहद गहरे रंग का सेवन करें इसमें लोहा अधिक होता है|

गाजर

गाजर का रस नीति पीने से यूरिक एसिड कम होता है जोड़ों की सूजन घटती है जोड़ों के दर्द में लाभ होता है इसका रस एक से पांच गिलास तक नित्य पीने से लाभ होता है | जितना रस सरलता से किया जा सके लेकिन पांच गिलास से अधिक नहीं कच्ची गाजर को उबालकर भी खा सकते हैं गाजर में विटामिन ए प्रयास होता है जो जोड़ों के दर्द दर्द में लाभ करता है गाजर कब्जी दूर करती है| गाजर औ आवलों क मिश्रण रस पीने से अधिक लाभ होता है | गाजर का सर यूरिक एसिड नहीं बनने देता है | और इसे बहार निकालता है | गाजर ,पालक व चुकंदर क का रस मिलाकर पीना भी लाभ देता है |

हरी सब्जियाँ

मूली के पत्ते ,चोलाई,मेथी की हरी पत्तियां ,सरसों आदि की सब्जियाँ खाने से यूरिक एसिड निकल जाता है |रक्त की अम्लता भी निकल जाती है | सलाद खाएं | सब्जियों का सूप पियें |

नीबू

एक गिलास पानी में एक नीबू निचोड़ कर आधा चम्मच अदरक का रस मिलाकर सुबह भूखे पेट पीने से यूरिक एसिड नष्ट हो जाता है | नीबू पेशाब द्वारा यूरिक एसिड को निकालता हैं | नीबू से मिलने वाला साइट्रिक एसिड ,क्षार ,रिक अद्सिद का नास करता है |नीबू का अपनी क्षारीयता के कारण वात रोगों कमें लाभ करता है | दोपहर को भी नीबू पानी पियें |

नारंगी

नित्य दो नारंगी खाने से तथा पानी अधिक पीने से यूरिक एसिड निकल जाता है | जिससे घुटनों -गढ़िया में लाभ मिलता है | नारंगी क्षारीय फल है | यह हड्डियों के दर्द को दूर करता है |

खीरा -ककड़ी

यूरिक एसिड अधिक होने से वात रोग हो तो ककड़ी और गाजर का आधा रस आधा आधा गिलाश मिला कर पीने से बहुत लाभ होता है | केवल ककड़ी का रस भी पी सकतें है | खीरा खाने से भी यूरिक एसिड निकलता है | यूरिक एसिड को बढ़ाने वाली कुछ चीजे जो हम को नहीं खानी चाहियें

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here